सिडनी (रायटर्स)। कोरोना संकट के चलते क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इस समय बड़े आर्थिक संकट से जूझ रहा है। उन्हें इस परेशानी से सिर्फ भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया सीरीज ही निकाल सकती है, जो साल के अंत में शेड्यूल है। इस सीरीज से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड को लगभग 195 मिलियन डॉलर का फायदा होगा। ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया दौरा करने का मन बना लिया है। इस बात की जानकारी बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने दी।

बीसीसीआई कोषाध्यक्ष ने किया खुलासा

ऑस्ट्रेलियाई अखबार सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड से बात करते हुए धूमल ने कहा कि भारत इस दौरे को लेकर सकारात्मक है। भारतीय खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया में सीरीज खेल सकते हैं।

यही नहीं विराट सेना मैच से पहले दो हफ्ते तक क्वारांटाइन में रहने को भी तैयार है। धूमल कहते हैं, दिसंबर और जनवरी में चार टेस्ट और तीन एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने को लेकर बीसीसीआई सही दिशा में सोच रही। सभी भारतीय खिलाड़ी क्वारंटाइन में रहने को तैयार हैं। धूमल ने आगे कहा, कोई विकल्प नहीं है – हर किसी को ऐसा करना होगा। आप क्रिकेट को फिर से शुरू करना चाहेंगे।”

अतिरिक्त मैच को लेकर भी चर्चा

बोर्ड पांचवे टेस्ट की संभावना पर चर्चा कर रहा है, लेकिन धूमल ने महसूस किया कि इसकी जगह सीमित ओवरों की सीरीज में एक मैच बढ़ा दिया जाए तो ज्यादा फायदा होगा। धूमल ने कहा, अगर कोई विंडो उपलब्ध है तो यह तय करना होगा कि वे टेस्ट मैच के लिए जाना चाहते हैं या दो वनडे या शायद दो टी 20। राजस्व हानि को देखते हुए उन्हें पोस्ट-लॉकडाउन के बाद राजस्व प्राप्त होगा। ऐसे में अगर वो एक टेस्ट की बजाए दो वनडे या टी-20 आयोजित करते हैं तो अधिक वित्तिय लाभ होगा।

कोरोना के चलते मैच पर पड़ा असर

कोरोना संकट के चलते दुनिया भर के क्रिकेट मैचों पर प्रभाव पड़ा है। बीसीसीआई को अनिश्चितकाल के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को स्थगित करना पड़ा है। धूमल ने कहा कि टूर्नामेंट के लिए एक वैकल्पिक विंडो की पहचान नहीं की गई थी। वह कहते हैं, एक बार जब चीजें स्पष्ट हो जाती हैं, तो केवल हम ड्राइंग बोर्ड पर वापस जा पाएंगे और क्रिकेट को फिर से शुरू करने के बारे में सोचेंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here