रायपुर. छत्तीसगढ़ में मंगलवार से शराब की घर पहुंच सेवा शुरू हो गई है। लोग घर बैठे शराब मंगा सकते हैं, किन्तु इसके लिए 120 रुपए के डिलीवरी चार्ज का भुगतान करना होगा। इसके साथ ही आधार नंबर भी बताना पड़ेगा। वहीं, रायपुर में उमड़ी भीड़ को देखते हुए 15 दुकानें बंद करने का निर्णय लिया गया है। दूसरी तरफ रैपिड टेस्ट में जांच के बाद बस्तर में तीन लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है।

सूरजपुर के प्रतापपुर पालिका क्षेत्र में जजावल से सटे ओड़गी ब्लाक के कालाजामन समेत दो गांवों में क्वॉरैंटाइन सेंटर खोलने का विरोध आरंभ हो गया है। लोगों ने गांव में प्रवेश के सारे रास्ते ब्लॉक कर दिए हैं।

डीएवी मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल और हाई स्कूल को क्वॉरैंटाइन सेंटर बनाए जाने की सूचना से लोगों में आक्रोश है। इससे पहले जजवाल में बने राहत केंद्र से ही कोरोना के 7 संक्रमित पाए गए थे।

वहीं जांजगीर जिले में अकलतरा के कापन गांव में महिलाओं ने पहले ही दिन शराब की दुकानें खोले जाने का विरोध कर दिया। सुबह से ही शराब के विरोध में हाथों में बैनर और लठ लिए महिलाएं शराब दुकान के पास पहुंच गईं थीं। अधिकारियों ने भी मौके पर महिलाओं को समझाने का प्रयास किया और उन्हें कार्रवाई का डर दिखाया। इसके बाद भी महिलाएं अड़ी रहीं और शराब दुकान नहीं खुलने दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here