उत्‍तर प्रदेश के विधायक अमनमणि त्रिपाठी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। लॉकडाउन उल्‍लंघन के मामले में उनके खिलाफ विभिन्‍न धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। देहरादून जिला प्रशासन ने यूपी के निर्दलीय विधायक त्रिपाठी सहित 12 लोगों को बदरीनाथ और केदारनाथ जाने के लिए पास जारी किया था, लेकिन इन्हें चमोली जिले के बॉर्डर से बदरीनाथ के कपाट न खुलने का हवाला देते हुए वापस लौटा दिया गया था।

विधायक के पास उत्तराखंड के अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश द्वारा जारी एक पत्र था जिसमें उल्लेख था कि वह योगी आदित्यनाथ के पिता के पितृ कार्य के लिए बद्रीनाथ जा रहे हैं। इसके बाद केदारनाथ भी जाएंगे।

दरअसल, उत्तराखंड पुलिस से बदसलूकी करना यूपी के विधायक अमनमणि त्रिपाठी को महंगा पड़ गया, जिसके बाद पुलिस ने विधायक सहित 12 लोगों को हिरासत में ले लिया।

इन पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। जानकारी के मुताबिक, बदरीनाथ धाम के कपाट खुले न होने के चलते अमनमणि त्रिपाठी सहित 12 लोग चमोली के कर्णप्रयाग पहुंच गए थे। इसपर कर्णप्रयाग पुलिस ने इनको रोका तो विधायक ने पुलिस से ही बदतमीजी कर दी। यूपी के विधायक अमनमणि त्रिपाठी समेत 12 लोगों को कर्णप्रयाग में कोरोना ड्यूटी में लगे अफसरों से बदसलूकी करने के बाद टिहरी पुलिस ने मुनिकीरेती में यह कार्रवाई की है। टिहरी पुलिस ने विधायक अमनमणि त्रिपाठी के काफिले को व्यासी थाना इलाके में रोक कर हिरासत में लिया। पुलिस ने अनुमति के विपरीत 12 लोगों पर आपदा एवं संक्रमण अधिनियम का उल्लंघन करने और सरकारी कार्य में व्यवधान उत्पन करने के चलते मुकदमा दर्ज किया।

इन धाराओं के तहत दर्ज किया गया मामला

उत्तराखंड के डीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई को बताया कि विधायक अमन मणि त्रिपाठी और 11 अन्य व्यक्तियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता, आपदा प्रबंधन अधिनियम और महामारी रोग अधिनियम की धारा 188, 269 और 270 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने ये भी कहा, “गिरफ्तार किए जाने के बाद, उन्हें एक नोटिस दिया गया और वापस उत्तर प्रदेश भेज दिया गया।”

तीन कारों में सवार होकर जा रहे थे बदरीनाथ

पुलिस का कहना है कि एमएलए त्रिपाठी ने जो लेटर दिखाया, उसमें उन्होंने यूपी के सीएम आदित्यनाथ के पिता के श्राद्ध कर्म के लिए वहां जाने की बात कही थी। पुलिस का कहना है कि ये सारे लोग रविवार को तीन कार में सवार होकर बदरीनाथ जा रहे थे। इस दौरान चमोली जिले की सीमा पर चेकिंग के दौरान इन सभी को वापस भेजा गया।

दो मई को चले देहरादून से

दो मई को यह लोग तीन वाहनों से देहरादून से श्रीनगर पहुंचे। अनुमति पत्र के अनुसार 3 मई को इन्हें श्रीनगर से बदरीनाथ, 5 मई को बदरीनाथ से केदारनाथ और 7 मई को केदारनाथ से वापस देहरादून जाना था। जिन तीन वाहनों में ये आये, इनमें दो वाहन यूपी और एक उत्तराखंड के नम्बर का था।

निर्दलीय विधायक हैं अमनमणि त्रिपाठी

अमन मणि त्रिपाठी यूपी के नेता अमर मणि त्रिपाठी के बेटे हैं। वे महाराजगंज जिले की नौतनवा सीट से निर्दलीय विधायक हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here