Rising India
Rising India

Saturday, 30 May, 3.35 pm

दक्षिण-पश्चिम अरब सागर में चक्रवाती तूफान का अम्फान मुंबई पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। यह जानकारी भारतीय मौसम विभाग ने दी। मौसम विभाग के अनुसार तटीय कर्नाटक, महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में बारिश और हवाएँ बढ़ेंगी । यही नहीं मौसम विभाग ने 1 जून और 2 को पूरे राज्य में प्री-मॉनसून वर्षा होने का अनुमान लगाया है। उम्मीद जताई गई है कि मंबई में इस साल औसत से अधिक बारिश होगी। इससे पहले विभाग ने पिछले हफ्ते पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में अम्फान के तबाही मचाने के बाद कई अन्य राज्यों में भी इसके असर की चेतावनी जारी की थी। 

बता दे कि इस तूफान की वजह से उड़ीसा और प.बंगाल में जहां 85 लोगों की मौत हो गई थी, वहीं करोड़ों अरबो की संपत्ति का नुकसान भी हुआ था। इसके बाद देश के तटीय राज्यों को भी यह डर सता रहा था कि यह तूफान उनके भी राज्य में दस्तक दे सकता है। बुधवार को प्रकाशित आईएमडी की रिपोर्ट में लिखा गया अरब सागर में साइक्लोनिक सर्कुलेशन सिस्टम वेस्ट सेंट्रल और साउथ वेस्ट पर बन रहा है जो कि 29 मई को सिस्टम से लो प्रेशर पैदा होगा और इसके बाद चक्रवात का रूप धारण कर सकता है और अगर ऐसा हुआ तो सौराष्ट्र और साउथ गुजरात में भारी बारिश की आशंका है।

चक्रवात के मद्देनजर मौसम विभाग की ओर से 5 दिनों की एडवाइजरी जारी की और कहा कि दक्षिण गुजरात, मध्य गुजरात और सौराष्ट्र में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की संभावना है इसलिए लोगों को अलर्ट किया गया है, आईएमडी ने आज से लेकर अगले पांच दिनों तक के लिए भारी बारिश की बात भी कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here