नई दिल्लीः मंगलवार को केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में एकमुश्त भारी इजाफा कर दिया. डीजल और पेट्रोल पर रोड व इंफ्रास्ट्रक्चर सेस आठ रुपये प्रति लीटर किया गया. वहीं इसके अलावा डीजल पर अतिरिक्त एक्साइज ड्यूटी पांच रुपये प्रति लीटर और पेट्रोल पर दो रुपये प्रति लीटर बढ़ाई गई.

ये देश में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी के रूप में बढ़ाई गई सबसे ज्यादा बढ़ोतरी थी और इससे पहले मंगलवार को दिन में ही दिल्ली सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट बढ़ा दिया था. पेट्रोल पर 1.67 फीसदी और डीजल पर 7.10 रुपये प्रति लीटर का वैट दिल्ली सरकार ने बढ़ा दिया था.

पेट्रोल-डीजल पर विश्व में सबसे ज्यादा टैक्स भारत में- 69 फीसदी हुआ
इन बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में पेट्रोल 71.26 रुपये पर जा पहुंचा जिसमें 49.42 रुपये का टैक्स शामिल है और डीजल के दाम 69.39 रुपये प्रति लीटर पर जा पहुंचे हैं जिसमें 48.09 रुपये का टैक्स शामिल है. इसे फीसदी के रूप में देखा जाए तो इन दोनों फ्यूल पर ये टैक्स 69 फीसदी हो जाता है जो कि दुनिया में पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले टैक्स की सबसे ज्यादा संख्या है.

पिछले साल तक पेट्रोल-डीजल पर था 50 फीसदी टैक्स
पिछले साल तक पेट्रोल और डीजल की रिटेल कीमतों में से 50 फीसदी टैक्स लगाया जाता रहा था.

विश्व के अन्य देशों में पेट्रोल-डीजल पर टैक्स
दुनिया के अन्य देशों में पेट्रोल और डीजल पर टैक्स देखें तो भारत के बाद इटली में इन पर 64 फीसदी टैक्स लगता है. फ्रांस और जर्मनी इन फ्यूल पर 63 फीसदी टैक्स वसूलते हैं. ब्रिटेन में 62 फीसदी,स्पेन में 53 फीसदी, जापान में 47 फीसदी और कनाडा में 33 फीसदी टैक्स लगाया जाता है. वहीं अमेरिका में तो पेट्रोल-डीजल पर सिर्फ 19 फीसदी टैक्स ही वसूला जाता है. इस तरह देखा जाए तो दुनिया में पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा टैक्स भारत में ही वसूला जाता है.

Source-ABP news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here